रसोईघर में कभी ना ख़त्म होने दे ये 3 चीजें।। घर में आती है दरिद्रता।।

रसोईघर में कभी ना ख़त्म होने दे ये 3 चीजें।। घर में आती है दरिद्रता।।

हम सभी के घरों में रसोई को सबसे महत्‍वपूर्ण स्‍थान माना गया है। यही वह जगह है जहां से हम सभी का भाग्‍य तय होता है और घर में सुख समृद्धि वास होता है। कहते हैं कि रसोईघर में कुछ चीजें ऐसी होती है जिन्‍हें कभी खत्‍म नहीं होने देना चाहिए। माना जाता है कि इन वस्‍तुओं के खत्‍म होने से नकारात्‍मकता बढ़ती है, घर की बरकत चली जाती है और कंगाली पांव पसारना शुरू कर देती है। हालांकि इन बातों का न ही कोई धार्मिक महत्‍व और न ही वैज्ञानिक आधार, मगर फिर भी काफी समय से लोग इन बातों को मानते आ रहे हैं। आइए आपको बताते हैं कौन सी है वे 5 वस्‍तुएं, जिन्‍हें भूल से भी खत्‍म न होने दें।

आटा
कुछ घरों में ऐसा देखने को मिलता है कि रसोई में आटे का डिब्‍बा जब पूरी तरह से खाली हो जाता है, तब लोग उसमें नया आटा भरते हैं। अगर आप भी ऐसा करते हैं तो इसे तत्‍काल रोक दें। आटे के डिब्‍बे में आटा पूरी तरह से खत्‍म हो, इससे पहले ही उसमें नया आटा भर दें। आटे के बर्तन को कभी भी झाढ़ना नहीं चाहिए। इससे अपको धन की हानि होती है और समाज में आपके सम्‍मान में भी कमी आती है।

रसोई के मसालोंहल्‍दी

 

में शामिल हल्‍दी ऐसी चीज है जिसका प्रयोग लगभग सभी चीजों में होता है। वहीं ज्‍योतिष के नजरिए से देखा जाए तो हल्‍दी का संबंध बृहस्‍पति ग्रह से माना गया है। अगर आपकी रसोई में हल्‍दी खत्‍म होती है तो यह गुरु दोष के समान है। गुरु का दोष होने पर आपके पास धन की कमी होने लगती है और करियर में आप पिछड़ने लग जाते हैं। इसलिए रसोईघर में जब भी लगे ही हल्‍दी खत्‍म होने वाली है तो उससे पहले ही नई हल्‍दी लाकर डिब्‍बे को भर दें। घर में हल्‍दी की कमी होना धन और वैभव में कमी के साथ ही शुभ कार्यों में बाधा को भी दर्शाता है। ध्‍यान रहे कि न कभी किसी से हल्‍दी उधार मांगें और न ही किसी को दें।

चावल
कुछ लोग मानते हैं चावल रसोई में उतना ही रखना चाहिए जितना कि प्रयोग हो, वरना उसमें कीड़े पड़ जाते हैं। इस वजह से लोग पहले रसोई में रखे चावल को खत्‍म कर लेते हैं और फिर उसमें नए चावल भरते हैं। ऐसा भूल से भी न करें। चावल का संबंध भी शुक्र से माना गया है और शु्क्र को ऐश्‍वर्य, वृद्धि और भौति‍क सुखों का कारक माना गया है। चावल का घर में खत्‍म होना शुक्र के दोष को दर्शाता है। शुक्र का दोष लगने पर पति और पत्‍नी के बीच संबंध भी कड़वे होने लगते हैं। इसलिए घर में चावल को कभी भी खत्‍म न होने दें और नया मंगवा लें।

नमक

 


रसोई में नमक न हो तो खाना ही नहीं बन सकता। कुछ लोग डिब्‍बे में भरे नमक को पहले खत्‍म कर लेते हैं और फिर उसमें नया नमक भरते हैं। ज्‍योतिष में नमक को राहु का पदार्थ माना गया है। रसोई में नमक के खत्‍म होने से राहु की कुदृष्टि आप पर पड़ती है और फिर आपके काम बिगड़ने लग जाते हैं और आपको आर्थिक तंगी का सामना करना पड़ता है। ध्‍यान रखें कि रसोई में नमक का डिब्‍बा कभी खाली न होने दें। वहीं इस बात पर भी गौर करें कि कभी किसी दूसरे के घर से नमक नहीं मांगना चाहिए। ऐसा करने से आपके अपने घर के भंडार सदैव खाली रहेंगे।

नोट – प्रत्येक फोटो प्रतीकात्मक है (फोटो स्रोत: गूगल)

[ डि‍सक्‍लेमर: यहां दी गई जानकारियां धार्मिक आस्था और लोक मान्यताओं पर आधारित हैं, इसका कोई भी वैज्ञानिक प्रमाण नहीं है. इसे सामान्य जनरुचि को ध्यान में रखकर यहां प्रस्तुत किया गया है. The Hindu Media वेबसाइट या पेज अपनी तरफ से इसकी पुष्‍ट‍ि नहीं करता है. ]

admin

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *